Sale!

हिंदी शिक्षण: संकल्पना और प्रयोग / Hindi-Shikshan : Sankalpana Aur Prayog

150.00 127.50

ISBN: 978-81-88118-04-5
Edition: 2012
Pages: 112
Language: Hindi
Format: Hardback


Author : Dr. Hira Lal Bachhotia

Compare
Category:

Description

प्रायः हिंदी भाषा और हिंदी की साहित्यिक शैली को एक माना जाता रहा है। इसमें भेद कर तदनुसार शिक्षण की आवश्यकता के संदर्भ में साहित्येतर अभिव्यक्तियों और शैलियों के सक्षम प्रयोग की निपुणता प्राप्त करना अपेक्षित है। इस दृष्टि से ‘हिंदी-शिक्षण: संकल्पना और प्रयोग’ में विधियों आदि की अवधारणा के साथ उसके प्रायोगिक रूपों को प्रस्तुत करने की चेष्टा की गई है। प्रारंभिक स्तर पर विशेष रूप से हिंदीतर भाषी शिक्षार्थी के लिए शैक्षिक-भाषायी कार्यकलापों (भूमिका-निर्वाह आदि) के माध्यम से भिन्न-भिन्न संदर्भों में बोलने का अभ्यास, कैसे पढ़ाएँ के अंतर्गत परिवेश निर्माण, वाचन, कथ्य या विषयवस्तु का विश्लेषण, रूपांतरण, स्थानापत्ति, बोध प्रश्न आदि पर विचार तथा उनके अभ्यासपरक उदाहरणों के माध्यम से अध्यापन हेतु विविध आयाम प्रस्तुत करने का प्रयास किया गया है।

Reviews

There are no reviews yet.

Be the first to review “हिंदी शिक्षण: संकल्पना और प्रयोग / Hindi-Shikshan : Sankalpana Aur Prayog”

Your email address will not be published. Required fields are marked *