बुक्स हिंदी 

Sale!

Nirjan Karawas (PB)

200.00 170.00

ISBN : 978-93-89663-32-7
Edition: 2024
Pages: 106
Language: Hindi
Format: Paperback
Author : Jayvardhan

Categories: ,

श्री अरविंद घोष का नाम लेते ही एक योगी के साथ-साथ कवि, लेखक, दार्शनिक और प्रखर क्रांतिकारी का चित्र उभरता है। पिता जाने-माने डॉक्टर थे। वे अरविंद को अच्छी और उच्च शिक्षा दिलाकर किसी अच्छे पद पर देखना चाहते थे, इसीलिए उन्होंने 7 वर्ष की अल्पायु में ही अरविंद को इंग्लैंड भेज दिया था। विदेश प्रवास के दौरान अरविंद ने लगन के साथ ज्ञानार्जन किया और अंग्रेजी के साथ-साथ जर्मन, फ्रेंच, ग्रीक और इटैलियन भाषा में महारत हासिल की। अन्य भाषाओं में लेख लिखने के लिए आपको सम्मानित किया गया। मात्र 18 वर्ष की आयु में आप आई-सी-एस- की परीक्षा में सफल हो गए थे। देशप्रेम से ओत-प्रोत मन में स्वतंत्रता की हूक उठ रही थी, इसलिए आई.सी.एस. की परीक्षा में उत्तीर्ण होने के बाद भी आपने घुड़सवारी की परीक्षा देने से मना कर दिया।

Home
Account
Cart
Search
×

Hello!

Click one of our contacts below to chat on WhatsApp

× How can I help you?