Sale!

मलिक मुहम्मद जायसी / Malik Muhammad Jaaysi

150.00 127.50

ISBN: 81-88121-77-9
Edition: 2011
Pages: 76
Language: Hindi
Format: Hardback


Author : Dr. Chandrika Prasad Sharma

Edition:
Pages:
Language: Hindi
Format: Hardback

Author :

Out of stock

Compare
Category:

Description

मलिक मुहम्मद जायसी एक कवि होने के साथ-साथ सिद्ध फकीर भी थे । उनकी काव्य-प्रतिभा अद्वितीय थी । उन्होंने आंचलिक भाषा अवधी में जितना सुंदर महाकाव्य रचा है, उतना हिंदी साहित्य के किसी दूसरे कवि ने नहीँ रचा । जायसी ने ठेठ अवधी की उच्चकोटि की शब्दावली का प्रयोग किया है ।
अवध के रायबरेली जनपद के कस्बे ‘जायस’ का नास उन्होंने अमर कर दिया । उनका महाकाव्य ‘पदमावत’ उच्च कक्षाओं के पाठयक्रम से पढाया जाता है । अनेक विद्वानों ने इस ग्रंथ पर शोध करके पी-एच०डी० और डी० लिट्० की उपाधियां प्राप्त की हैं ।
देश के अतिरिक्त विदेशों के विभिन्न विश्वविद्यालयों में भी यह ग्रंथ पाठ्यपुस्तक के रूप में पकाया जाता है । लोकभाषा का जितना मनोहारी रूप इस ग्रंथ में प्राप्त होता है, उतना अन्यत्र दुर्लभ है ।
जायसी स्वयं तो कुरूप थे,  उनके हृदय में सौंदर्य का खजाना भरा था । उनकी उपमाएं, सूक्तियां तथा पद-लालित्य प्रशंसनीय है ।
—चंद्रिकाप्रसाद शर्मा

Reviews

There are no reviews yet.

Be the first to review “मलिक मुहम्मद जायसी / Malik Muhammad Jaaysi”

Your email address will not be published. Required fields are marked *