Sale!

Ramayan : Bhrantiyan Aur Samadhaan

100.00 85.00

ISBN: 978-81-88118-05-2
Edition: 2005
Pages: 106
Language: Hindi
Format: Hardback

Author : Swami Vidhya Nand Saraswati

Compare
Category:

Description

भारत का गौरवपूर्व इतिहास जिन ग्रन्थों में आज भी सुरक्षित है, उनमे रामायण और महाभारत मुख्य हैं। जितना प्राचीन यह देश है उतना ही प्राचीन और विस्तृत इस देश का साहित्य और संस्कृति है। यहां समय-समय पर अनेक महापुरुषों का जन्म हुआ हैं परन्तु जिन दो महापुरुषों के जीवन ने भारत के इतिहास, संस्कृति, साहित्य और उसकी परम्पराओं को सबसे अधिक प्रभावित किया है, वे थे मर्यादापुरुषोत्तम राम तथा योगेश्वर कृष्ण।

Reviews

There are no reviews yet.

Be the first to review “Ramayan : Bhrantiyan Aur Samadhaan”

Your email address will not be published. Required fields are marked *