बुक्स हिंदी 

Sale!

Rajendra Yadav ne Jyoti Kumari ko Bataye Swastha Vyakti ke Beemar Vichar

290.00 246.50

ISBN: 978-93-82114-07-9
Edition: 2012
Pages: 168
Language: Hindi
Format: Hardback


Author : Rajendra Yadav

Category:
राजेन्द्र यादव ने ज्योति कुमारी को बताए स्वस्थ व्यक्ति के बीमार विचाऱ
लेखक के अनुसार यह पुस्तक इस अर्थ में विलक्षण से कि न तो यह आत्मकथा है, न आत्मवृत्त और न ही संस्मरणों का संकलन । तीन महीने बिस्तर पर निष्क्रिय पड़े रहने के दौरान जो कुछ उल-जलूल असंबद्ध तरीके से दिमाग में आता गया उसे ही कागज पर उतारने की कोशिश है । कोई भूला हुआ क्षण, गूंजता हुआ अनुभव या संपर्क में आए किसी का व्यक्तित्व । अंग्रेजी में ऐसे लेखन को रैम्बलिंग कहते हैं । हिंदी में शायद इसे भटकाव कहेंगे । बिना किसी सूत्र का सहारा लिए जहाँ मन हुआ वहां टहल आना । इस तरह की किसी और किताब का ध्यान सहसा नहीं आता । सब कुछ जो लिखा गया है बहुत तार्किक, सुसंबद्ध और विचारपक्व है । ‘स्वस्थ व्यक्ति के बीमार विचार’ पुस्तक इस श्रेणी में कहीं नहीं जाती मगर शायद बेहद पठनीय, रिवीलिंग और राजेन्द्र यादव के लेखन में बहुत महत्त्वपूर्ण कहीं के रूप में याद की जाएगी ।