Sale!

जलते हुए डैने तथा अन्य कहानियाँ / Jalate Hue Daine Tatha Anya Kahaniyan

225.00 191.25

ISBN : 978-81-7016-348-0
Edition: 2010
Pages: 216
Language: Hindi
Format: Hardback


Author : Himanshu Joshi

Compare
Category:

Description

जलते हुए डैने तथा अन्य कहानियाँ
‘जलते हुए डैने’ से ‘इस बार’ तक की कथा-यात्रा के ये अनेक पड़ाव है । अनुभव एवं अनुभूतियों के कई अक्स ! जीवन और जगत में जो हो रहा है, उसके कुछ धुँधले, कुछ उजले रेखा-चित्र ! पर रेखा-चित्रों में यथार्थ की मात्र रेखाएँ ही नहीं, कहीं-कहीं कुछ रंग भी है, जो मिट कर मिटते नहीं । घुलने के बावजूद भी घुलते नहीं । स्मृति-पटल पर ऐसे अंक्ति हो जाते है, जैसे पाषाण पर उकेरी गहरी रेखाएँ । रेखाओं की भी अपनी भाषा होती है । रेखाओं के भी अपने सुख-दु:ख, अपनी व्यथा-वेदना होती है ।  इस निखिल सृष्टि में ऐसा कुछ भी तो नहीं, जो अर्थपूर्ण न हो ! जिसकी अपनी कोई सार्थकता न हो !
अनेक सत्यों को परिभाषित करती ये सरल, सहज, सपाट-सी कहानियाँ, कहीं कुछ न कह कर भी कितना कुछ नहीं कह जाती । असत्य का यथार्थ, सत्य के यथार्थ से सम्भवत: आज़ अधिक गहरा होता है । अधिक विस्तृत, अधिक प्रामाणिक । प्रासंगिक ही नहीं, अधिक आकर्षक भी । शायद इसलिए हर दौड़ में सत्य के पाँव, झूठ से पीछे रह जाते हैं ।  पर असत्य जीत कर भी हार क्यों जाता है ? जल में पड़ी परछाई पकड़ने की तरह आदमी कुछ चाहता है । परन्तु जो है, और जो होना चाहिए के बीच की संधि-रेखा इतनी धुँधली क्यों है ?
लेखक की संपूर्ण कहानियाँ तीन खण्डों में प्रस्तुत है :
० अन्तत: तथा अन्य कहानियाँ
० मनुष्य-चिह्न तथा अन्य कहानियाँ
० जलते हुए डैने तथा अन्य कहानियाँ

Reviews

There are no reviews yet.

Be the first to review “जलते हुए डैने तथा अन्य कहानियाँ / Jalate Hue Daine Tatha Anya Kahaniyan”

Your email address will not be published. Required fields are marked *