Sale!

Rangey Ghazal

150.00 127.50

ISBN: 978-81-88588-11-4
Edition: 2005
Pages: 160
Language: Hindi
Format: Hardback


Author : Om Prakash Sharma

Compare
Category:

Description

रंगे ग़ज़ल
यह एक अनूठा दस्तावेज है, जिसे एक प्रयोग के रूप में प्रस्तुत किया जा रहा है।  इस संकलन की कुछ गज़लें जहां अपनी परम्पराओं के साथ नजर आयेंगी, वहीं कुछ ग़ज़लों का रूप रूढियों और परम्पराओं से हटकर जमाने के नयेपन को छूता नजर आयेगा ।
इस संकलन में पुराने शाइरों की ग़ज़लों के साथ ही कुछ नये शाइरों की ग़ज़लें भी सम्मिलित की गयी हैं, जो आज लोगों के दिलों में अपनी जगह बना रहे हैं तथा ग़ज़ल के प्रगतिवादी स्वरूप को नयी दिशा ध्यान कर रहे हैं । इन शाइरों में प्रमुख हैं-डा० बशीर ‘बद्र’, निदा फाजली, अख्तर शीरानी, ताहिर अली ‘ताहिर’, यूसुफ हसन, मुनीर नियाजी, मुजफ्फर हनफी, परवीन ‘शाकिर’, शोहरत बुखारी, शह्रयार, महकूर ‘खिजां’, जिगर श्योपुरी, तस्नीम सिद्दीकी, अहमद ‘कमाल’, जफर ‘इक्बाल’, खालिद अहमद, जावेद शाहीँ, कतील शिफ़ाई, कर्रार ‘नूरी’, ‘जोश’ मलीहाबादी, साहिर होशियारपुरी, निश्तर खानकाही, मजीद अमजद, कुमार ‘पाशी’ और गुलशन मदान आदि ।

Reviews

There are no reviews yet.

Be the first to review “Rangey Ghazal”

Your email address will not be published. Required fields are marked *