Sale!

Neurotherapy Dwara Swastha Jeevan / न्यूरोथेरैपी द्वारा स्वस्थ जीवन

250.00 212.50

ISBN : 9789351868552
Edition: 2019
Pages: 128
Language: Hindi
Format: Hardback
Author : Ramgopal Dixit

Compare
Category:

Description

भारत ऋषि-मुनियों का देश है। हमारे  ऋषि-मुनि  अपने आध्यात्मिक अनुभव के आधार पर भारत के सामान्य जन के लिए जो उपयोगी एवं आवश्यक है, वह सब समाज तक पहुँचाने का काम करते रहे हैं। अनेक भौतिक सुख, उपयोगी संसाधनों से दूर प्रकृति के नजदीक एवं प्रकृति की गोद में रहकर वे सिर्फ और सिर्फ मानव-कल्याण के लिए अनुष्ठान करते थे। ऋषि नई-नई खोज तो करते थे, लेकिन कभी भी उनपर अपना एकाधिकार प्रस्तुत नहीं करते थे। इसी महान् परंपरा के कारण उन्होंने दुनिया को 0, दशमलव, पाई, सात स्वर, 1 से 9 तक की संख्या, ज्योतिषकाल, काल-गणना एवं रोग-मुक्ति होने के अलावा स्वस्थ जीवन जीने के लिए एक जीवन-पद्धति के रूप में आयुर्वेद जैसा बहुत बड़ा स्वास्थ्य-विज्ञान जगत् को दिया।
यह पुस्तक न्यूरोथेरैपी के विशद ज्ञान को जन-जन तक पहुँचाने का एक विनम्र प्रयास है। इसमें इस विधा का बहुत सरल-सुबोध शब्दों में विवरण दिया है, जिसके व्यावहारिक उपयोग से हम रोगमुक्त होकर स्वस्थ जीवन जी सकते हैं।

________________________________________________________________________________________________________________________________________________________________________________________________________________________________________________________________________________________________________________________________________________________

अनुक्रम

लेखकीय — Pgs. 5

अभिमत — Pgs. 7

भूमिका — Pgs. 9

1. आदरणीय श्री लाजपतराय मेहरा — Pgs. 13

2. न्यूरोथेरैपी चिकित्सा — Pgs. 15

3. न्यूरोथेरैपी एवं अन्य चिकित्सा पद्धतियों की मान्यताएँ — Pgs. 16

4. अनुभव-जनित सूत्र (फॉर्मूले) एवं उपचार — Pgs. 22

5. उपचार देने के लिए फॉर्मूर्ल एवं उनका उपयोग — Pgs. 24

6. न्यूरोथेरैपी : आज के विश्व की आवश्यकता — Pgs. 40

7. न्यूरोथेरैपी की विशेषताएँ — Pgs. 42

8. सुंदरता एवं आरोग्य देनेवाली पद्धति — Pgs. 49

9. न्यूरोथेरैपी पद्धति का वैदिक या प्राचीन इतिहास — Pgs. 51

10. नाभि और वैदिक मान्यताएँ — Pgs. 53

11. नाभि-शिराएँ व धमनियों से संबंध — Pgs. 58

12. एसिड-एल्कलाइन की वैदिक मान्यताएँ — Pgs. 91

13. पाद स्पर्श चिकित्सा का वैदिक इतिहास — Pgs. 92

14. नाभि में अमृत एवं नाभि चिकित्सा की वैदिक काल से प्रचलन की घटनाएँ — Pgs. 93

15. न्यूरोथेरैपी के कुछ दबाव बिंदु तथा उनके लाभ — Pgs. 94

16. न्यूरोथेरैपी द्वारा विश्लेषण बिंदु  — Pgs. 114

17. न्यूरोथेरैपी के विशेष प्रयोग — Pgs. 115

18. विभिन्न रोगियों के अनुभव — Pgs. 121

सम्मतियाँ — Pgs. 126

Reviews

There are no reviews yet.

Be the first to review “Neurotherapy Dwara Swastha Jeevan / न्यूरोथेरैपी द्वारा स्वस्थ जीवन”

Your email address will not be published. Required fields are marked *