Sale!

Koi Aur Raasta Tatha Anya Laghu Naatak

200.00 170.00

ISBN: 978-81-88121-88-5
Edition: 2011
Pages: 164
Language: Hindi
Format: Hardback


Author : Pratap Sehgal

Compare
Category:

Description

कोई और रास्ता तथा अन्य लघु नाटक
यह नया नाट्य-संग्रह आपके हाथों में है । एकांकी के बंधनों को तोड़ने वाले इन नौ लघु नाटकों के विषय अलग-अलग हैं।
‘अंक-दृष्टा’ जहाँ रामानुजन की जीनियस को रेखांकित करता है तो ‘अंतराल के बाद’ में बदलते मूल्यों के बीच माँ एवं पुत्र के संवेदनात्मक संबंधी के बदलने की गाथा है । ‘दफ्तर में एक दिन’ एक सरकारी दफ्तर के कर्मचारियों की कार्यशैली एवं उबाऊ माहौल को उकेरता है तो ‘कोई और रास्ता’ संस्कारों से बँधी एक आधुनिक लड़की की संघर्ष-गाथा है । ‘फैसला’ में नारी- सम्मान का प्रश्च है तो ‘लडाई’ जाति के बंधनों के विरोध की दास्तान है । ‘वापसी’ अपनी जड़ों से उखड़ विदेश बसने की आकांक्षा और स्वाभिमान की रक्षा करते युवा पीढी का बयान है तो ‘लम्हों ने खता की थी’ एड्स के खतरों से आगाह करने की कोशिश है । इसी तरह से ‘मेरी-तेरी सबकी गंगा’ में गंगा की पौराणिक कथा को आधुनिक दृष्टि से देखने का प्रयास है ।
यानी कुल मिलाकर सभी नाटकों का रंग अलग, मिजाज अलग, समस्या अलग है । मामूली लोगों के जीवन के विविध पक्षों को पकड़ते, परखते ये लधु नाटक आपको बाँधेंगे भी, कोंचेंगे भी ।

Reviews

There are no reviews yet.

Be the first to review “Koi Aur Raasta Tatha Anya Laghu Naatak”

Your email address will not be published. Required fields are marked *