Sale!

सरिस्का: बाघ संरक्षित क्षेत्र में फिर से गूँजी दहाड़ / Sariska : Baagh Sanrakshit Kshetra mein Fir se Gunji Dahaad

595.00 505.75

ISBN: 978-93-86906-74-8
Edition: 2019
Pages: 240
Language: Hindi
Format: Hardback

Author : Sunayan Sharma

Compare
Category:

Description

राजस्थान स्थित सरिस्का भारतवर्ष के सर्वाधिक प्रसिद्ध बाघ संरक्षित क्षेत्रों में से एक रहा है। लगभग डेढ़ दशक पूर्व सारे बाघ, क्रूर शिकारियों के हाथों मारे गये। इस दुःखद घटना का खुलासा हृदय विदारक था। इस घटना ने न सिर्फ भारत-वर्ष, बल्कि विश्व भर के वन्यजीव प्रेमियों को गहरा आघात पहुंचाया। असीमित वाद-विवाद, शंकाओं, तर्क-विर्तक, कानूनी व्यवधानों के चलते अन्ततः भारत के प्रधानमंत्री के हस्तक्षेप के बाद कुछ बाघ रणथम्भौर से सरिस्का में लोकर बसाये गये। यह विश्व में अपने किस्म का पहला ही प्रयोग था जो कि पूर्णतः सफल रहा। आज सरिस्का में एक दर्जन से अधिक बाघ हैं।

Reviews

There are no reviews yet.

Be the first to review “सरिस्का: बाघ संरक्षित क्षेत्र में फिर से गूँजी दहाड़ / Sariska : Baagh Sanrakshit Kshetra mein Fir se Gunji Dahaad”

Your email address will not be published. Required fields are marked *