Sale!

संपूर्ण ग्रह कला / Sampurna Grah Kala

200.00 170.00

ISBN : 978-81-85826-45-5
Edition: 2015
Pages: 202
Language: Hindi
Format: Hardback
Author : Santosh Grover

Compare
Category:

Description

प्रत्‍येक गृहस्थ का यह सपना होता है कि उसका एक घर हो, चीजें व्यवस्थित भार करीने से रखी गई हों, दैनिक कार्य- व्यापार से जब वह घर लौटे तो थके मन को श्रांति मिले । आज के इस आपाधापी के युग में जब पति-पत्‍नी, दोनों के नौकरी करने की परंपरा चल पड़ी है; व्यवस्थित दिनचर्या की कल्पना भी दुष्कर हो गई है । गृह विज्ञान की जानकारी ही इस समस्या का निदान हो सकता है । व्यस्त समय में से निकाले गए अत्यल्प क्षण भी हमारी दिनचर्या को नियोजित एवं व्यवस्थित ढर्रे पर ला सकते हैं । जरूरत है अपने कामों को सुचारु एवं सलीके से करने की आदत की ।
गुह विज्ञान एक विस्तृत विषय है । इसके अंतर्गत हम पोषण विज्ञान, बाल विकास, वस्त्र विज्ञान, प्राथमिक चिकित्सा, शिशुओं की देख -रेख, घर की सजावट, पाक कला आदि की जानकारी पाते हैं ।
प्रस्तुत पुस्तक में ऐसे ही विषयों पर सरल, सुबोध एवं ज्ञानप्रद ढंग से सचित्र जानकारी दी गई है; जिनका अध्ययन एक मुखी दंपती के लिए अनिवार्य हो चला है । गृह की सुख-शांति केवल गृहिणी का ही दायित्व नहीं है, गृहपति की भी समान जवाबदेही बनती है । यह पुस्तक इस दृष्‍ट‌ि से बहु उपयोगी सिद्ध होगी ।

Reviews

There are no reviews yet.

Be the first to review “संपूर्ण ग्रह कला / Sampurna Grah Kala”

Your email address will not be published. Required fields are marked *