Sale!

आँवला और उसकी बागबानी / Aanvala Aur Usaki Baagbaani

180.00 153.00

ISBN: 978-81-88123-02-5
Edition: 2013
Pages: 152
Language: Hindi
Format: Hardback

Author : Darshana Nand

Compare
Category:

Description

आँवला एक ऐसा भारतीय पौष्टिक फल है, जिसकी, गणना पिछड़े और मामूली फलों में की जाती रही। इसके विकास की सर्वदा अनदेखी भी होती रही। इसका मुख्य कारण यह है कि यह फल स्वाद के साथ आम, अमरूद, लीची व केले की भांति नहीं खाया जा सकता। इसे मात्र चटनी, अचार, मुरब्बा-निर्माण किए जाने वाला फल ही समझा जाता रहा।
वास्तव में आँवले का ताजा फल भी सीमित मात्रा में ही खाया जा सकता हैं मुरब्बे के अतिरिक्त इसके अनेक उत्पाद भी निर्माण किए जाते हैं। इसकी उपयोगिताएँ अनन्य हैं। यह औषधीय गुणों का भंडार है।
सबसे बड़ी विशेषता इसमें यह है कि इसके उद्यान उपजाऊ के अतिरिक्त घटिया से घटिया, बीहड़, बंजर व ऊसरीली मिट्टी व अन्य बेकार भूमि में भी सफलतापूर्वक लगाए जा सकते हैं।

Reviews

There are no reviews yet.

Be the first to review “आँवला और उसकी बागबानी / Aanvala Aur Usaki Baagbaani”

Your email address will not be published. Required fields are marked *